90s Songs Bollywood Song Lyrics Vinod Rathod

Koi Na Koi Chahiye Lyrics – कोई ना कोई चाहिए

Koi Na Koi Chahiye Lyrics In Hindi And English -: कोई ना कोई चाहिए – Koi Na Koi Chahiye is song from Deewana. sung by Vinod Rathod and composed by Nadeem-Shravan.

Song : Koi Na Koi Chahiye
Movie : Deewana
Singer : Vinod Rathod
Music : Nadeem-Shravan
Lyrics : Sameer

Koi Na Koi Chahiye Lyrics In English

Koi na koi chahiye, pyaar karne wala
Koi na koi chahiye, pyaar karne wala
Koi na koi chahiye.. humpe marne wala

Dil-o-jaan lutayenge hum toh usi par
Saath mein bitaayenge shaam-o-shehar
Shaam-o-shehar wo mere yaara

Koyi na koyi chahiye, pyaar karne wala
pyaar karne waala
Pyaar karne waala
Koyi na koyi chahiye, humpe marne wala
humpe marne waala
Humpe marne waala

Uss chand ke tukde ko
Seene se laga lunga
Uss reshmi mukhde ko
Aankhon mein chhupa lunga

Deewana mujhsa na milega usko
Iss zameen se leke saare aasman tak

Koyi na koyi chahiye, pyar karne wala
Koyi na koyi chahiye.. humpe marne wala
Humpe marne wala
Humpe marne wala

Na meri koi manzil
Na mera hai thikana
Maine toh yaaron sikha
Kaanton se dil lagana

Ulfat ka main deewana hoon
Duniya se main begaana
Baahon mein aasmaan hai
Kadmon mein hai zamaana

Koi na koi chahiye, pyar karne waala
Koi na koi chahiye, humpe marne waala

Dil-o-jaan lutaayenge hum toh usi par
Saath mein bitaayenge shaah-o-shehar
Shaaam-o-shehar wo mere yaara

Koi na koi chahiye, pyar karne wala
Koi na koi chahiye, humpe marne wala

Koi Na Koi Chahiye Lyrics In Hindi

कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला
कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला
कोई ना कोई चाहिए हम पे मरने वाला
दिल-ओ-जान लुटाएँगे हम तो उसी पर
साथ में बिताएंगे शाम-ओ-सेहेर
शाम-ओ-सेहेर ओ मेरे यारा
कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला (प्यार करने वाला)
प्यार करने वाला
कोई ना कोई चाहिए हम पे मरने वाला (हम पे मरने वाला)
हम पे मरने वाला

उस चाँद के टुकड़े को सीने से लगा लूँगा
उस रेशमी मुखड़े को आँखों में छुपा लूँगा
दीवाना मुझसा ना मिलेगा उसको
इस ज़मीन से लेके सारे आसमान तक
कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला
कोई ना कोई चाहिए हम पे मरने वाला (हम पे मरने वाला)
हम पे मरने वाला

ना मेरी कोई मंजिल, ना मेरा है ठिकाना
मैंने तो यारों सिखा काँटों से दिल लगाना
उल्फत का मैं दीवाना हूँ, दुनिया से मैं बेगाना
बाहों में आसमान है, क़दमों में है ज़माना
कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला
कोई ना कोई चाहिए हम पे मरने वाला
दिल-ओ-जान लुटाएँगे हम तो उसी पर
साथ में बिताएंगे शाम-ओ-सेहेर
शाम-ओ-सेहेर ओ मेरे यारा
कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला
कोई ना कोई चाहिए हम पे मरने वाला.

See Also -:

Add Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: